10/6/15

ऑनलाइन मैरिज के सफल होने के पीछे ये हैं वो 7 वजहें

ऑनलाइन के बढ़ते क्रेज ने सिर्फ पढ़ाई और जॉब को ही आसान नहीं बनाया है, बल्कि इसने लाइफ को भी बहुत ही आसान बना दिया है। फर्नीचर, कपड़ों से लेकर बाकी के घरेलू सामान को खरीदने के साथ ही अब जोड़ियां भी ऑनलाइन ही बनने लगी हैं। सबसे अच्छी बात है कि ये कामयाब भी हो रही हैं। मनमुताबिक पार्टनर मिलने से शादियां लंबे समय तक बरकरार भी रह रही हैं। नेशनल एकेडमी ऑफ साइंसेज की रिसर्च से ये बात सामने आई है कि ऑनलाइन मैरिज ज्यादा सक्सेसफुल हो रहे हैं। इस सक्सेस के पीछे के कारणों के बारे में जानेंगे।
मनमुताबिक पार्टनर
ऑनलाइन मैरिज में पुरुष हो या महिला, दोनों ही अपने मनमुताबिक पार्टनर की तलाश कर सकते हैं। ऐसे कई सारे ऑप्शन्स मौजूद हैं, जिनमें वो पार्टनर के संबंध में अपनी पसंद का ब्योरा दे सकते हैं। कद-काठी से लेकर, एजुकेशन, गोत्र, कम्युनिटी, फैमिली बैकग्राउंड आदि के बारे में जानकारियों का आदान-प्रदान कर सकते हैं, जिससे काफी हद तक पार्टनर की तलाश आसान हो जाती है। यहां तक कि खाने-पीने की आदतों में भी अपनी पसंद को खुलकर ऑनलाइन पर बताया जा सकता है।

प्लानिंग
ऑनलाइन मैरिज में डेटिंग से लेकर फैमिली मीटिंग, सगाई से लेकर शादी, सबकी प्लानिंग के लिए पूरा वक्त मिलता है और चीजें भी काफी हद तक सही तरीके से होती हैं। पुरुष और महिला, दोनों ही अपने खर्चों को देखते हुए चीजों को मैनेज करते हैं। सिर्फ शादी ही नहीं, बल्कि शादी के बाद की लाइफ भी प्लानिंग करके डिसाइड की जा सकती है। ऑनलाइन मैरिज सक्सेसफुल होने की ये भी एक वजह है।

जिम्मेदारियों का बंटवारा
ऑनलाइन मैरिज के वक्त ही ज्यादातर कपल्स अपने आगे की लाइफ की प्लानिंग कर लेते हैं और साथ ही जिम्मेदारियों का बंटवारा भी। वर्किंग वुमन होने पर घर के कौन-कौन से काम करने होंगे और किन कामों की जिम्मेदारियां पुरुषों के हवाले होंगी, ये पहले ही तय हो जाती हैं, जो अरेंज मैरिज में कम ही देखी जाती हैं। अरेंज मैरिज ज्यादातर पुरुष प्रधान होता है। वह पैसे कमाने के अलावा घर की रोज-ब-रोज की जिम्मेदारियों से बिल्कुल फ्री होता है।

लड़ाइयां कम होती हैं
ऑनलाइन मैरिज में कपल्स की आदतों के साथ ही जरूरतें भी काफी हद तक मिलती-जुलती हैं, जिससे उनके बीच मन-मुटाव और लड़ाई-झगड़े की संभावना भी कम ही होती है। पर्सनैलिटी और एजुकेशन के बारे में पूरी जानकारी पहले से ही होती है, इसलिए झूठ बोलने और कुछ छिपाने जैसी भी कोई बात नहीं होती। ऑनलाइन मैरिज में फैमिली की इन्वॉल्वमेंट भी बहुत ज्यादा होती है, जो काफी हद तक पॉजिटिव होती है।

दखलंदाजी
दोनों को ही अपनी जिम्मेदारियों का अहसास होता है, इसलिए कपल्स एक-दूसरे के कामों में दखलंदाजी नहीं करते हैं। विचारों से लेकर लाइफ को अपने तरीके से जीने की फ्रीडम होती है। पुराने किसी फ्रेंड्स के मिलने पर, किसी को घर बुलाने पर कोई पाबंदी नहीं होती, बल्कि पार्टनर इस तरह के गेट-टूगेदर मे बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेते हैं। इसका कारण है काफी हद तक अपने मनमुताबिक पार्टनर मिलना।

आपसी समझ
अरेंज मैरिज और लव मैरिज में भले ही बाद आपसी समझ में थोड़ी कमी हो जाए, लेकिन ऑनलाइन मैरिज में इसके बहुत ही कम चांसेस होते हैं। दरअसल, ऑनलाइन में हम अपने ड्रीम पार्टनर के बारे में भी बता सकते हैं और काफी हद तक वैसा ही पार्टनर ढूंढने में कामयाब भी हो जाते हैं। आपसी समझ बने रहने की सबसे खास वजह यही है।

लाइफ एन्जॉय करते हैं
बोरिंग लाइफ ऑनलाइन मैरिज में खत्म हो जाती है। एक जैसी चाहत रखने वाले महिला-पुरुष ज्यादातर खुश रहते हैं। कभी मूवी देख ली तो कभी कहीं घूमने चले गए। ऐसे कई सारे ऑप्शन्स उनके पास मौजूद होते हैं। खुलकर जिंदगी जीते हैं और ऐसी शादियां लंबे समय तक चलती भी हैं, क्योंकि इनमें लड़ाई करने के इश्यू लगभग न के ही बराबर होते हैं।
SOURCE - BHASKER

No comments:

Post a Comment